चुनाव

पीएम का 'दीदी' कहना TMC को पसंद नहीं, महिला नेताओं ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर उठाए सवाल

तृणमूल कांग्रेस की महिला नेताओं ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर प्रधानमंत्री मोदी के उस संबोधन पर सवाल उठाए हैं जिसमें पीएम ने ममता बनर्जी को व्यंगात्मक रूप से दीदी बुलाया था। टीएमसी ने इसे महिलाओं का अपमान बताया है। मिदनापुर से टीएमसी की उम्मीदवार जून मालिया ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री को इस तरह की भाषा का इस्तेमाल करना शोभा नहीं देता। 

पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा था, "दीदी... ओह दीदी... दीदी हार आपके सामने है। अभी इसे स्वीकार करिए। हुगली के लोगों की आवाज सुनिए। दीदी..."

TMC को क्यों है ऐतराज
टीएमसी की तरफ से कहा गया है कि जिस अंदाज से प्रधानमंत्री ने बात की, ये महिलाओं का अपमान है। इसलिए उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। देखा जाए तो इस चुनावी दौर में दोनों ही पार्टियां एक दूसरे पर दबाव बनाने की कोशिश कर रही हैं। एक तरफ बीजेपी ममता बनर्जी पर दबाव बनाने की कोशिश कर रही है वहीं टीएमसी भी पीएम मोदी पर दबाव बनाने का कोई मौका नहीं छोड़ रही। 

बंगाल में दो चरण की वोटिंग हुई पूरी 
बंगाल की 294 विधानसभा सीटों पर आठ चरणों में वोटिंग होनी है। 27 मार्च और 1 अप्रैल को दो चरणों में वोटिंग हो चुकी है। तीसरे चरण की वोटिंग अब 6 अप्रैल को होगी। पहले दोनों चरणों में 60 सीटों पर 80 फीसदी से ज्यादा वोटिंग प्रतिशत रहा है। इसके बाद चौथे चरण में 44 सीटों पर 10 अप्रैल को, पांचवें चरण में 45 सीटों पर 17 अप्रैल को, छठे चरण में 43 सीटों पर 22 अप्रैल को, सातवें चरण में 36 सीटों पर 26 अप्रैल को और आठवें और अंतिम चरण में 35 सीटों पर 29 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे। वहीं, पांच राज्यों में एक साथ 2 मई को नतीजे घोषित किए जाएंगें। 

पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस की सरकार है। टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी राज्य की मुख्यमंत्री हैं। 2016 विधानसभा चुनाव में टीएमसी ने सबसे ज्यादा 211 सीटें जीतकर सरकार बनाई थी। वहीं कांग्रेस ने 44, लेफ्ट ने 26 और बीजेपी ने मात्र तीन सीटों पर जीत दर्ज की थी। जबकि अन्य ने दस सीटों पर जीत हासिल की थी। यहां बहुमत के लिए 148 सीटें चाहिए। 

Leave A Comment