कोरोना

कोरोना संक्रमितों की बढ़ती तादाद से कर्फ्यू सख्त, ट्रेनों से आ रहे लोगों की हो रही जांच

जिले में लगातार संक्रमितों की संख्या बढ़ रही है। रात दस बजे बाद कर्फ्यू लगने के बाद भी लोग सड़कों पर नजर आ रहे थे। कलेक्टर और एसपी ने अभी से सख्ती दिखाते हुए संक्रमण को रोकने के लिए एक्शन प्लान तैयार करते हुए सख्ती बढ़ा दी है। रात में पुलिस अब कर्फ्यू में ​नजर आने वाले लोगों के चालान काटेगी, वहीं दिन में यूआईटी और जिला प्रशासन बगैर मॉस्क और सोशल डिस्टेंस की पालना नहीं करने वालों पर कार्रवाई करेगी।
रात को पुलिस ने कल्याण सर्किल के पास तापड़िया बगीची इलाके में घूम रहे लोगों पर कार्रवाई की। बाइक पर और पैदल तफरी करने वालों को पुलिस ने कारण पूछा, इसके बाद उसका चालान काटा। इतना ही नहीं बगैर मॉस्क देखकर उन पर डंडा भी चलाया। दिन में यूआईटी, नगर परिषद और पुलिस की टीम ने लोगों के चालान काटे।
बता कि लगातार तीन दिन से आंकड़े बढ़ते जा रहे है। जहां 7 अप्रैल को 35 संक्रमित आए थे वहीं 8 अप्रैल को 33 लोगों की रिपोर्ट पॉजीटिव थी। इसके बाद 9 अप्रैल को आंकड़ा 37 तक पहुंच गया। इससे पहले खाटूश्याम में काफी संख्या में संक्रमित आए थे। पूरे इलाके में कंटेनमेंट जोन बना रखा है।
कलेक्टर अविचल चतुर्वेदी का कहना है कि मेडिकल अधिकारियों से लगातार संवाद रखते हुए जिले की स्थिति पर नजर है। पुलिस को भी मामले में सख्ती दिखाने को कहा है, जिससे लोग कोविड गाइडलाइन की पालना करें। जिन दुकानों पर नो मॉस्क नो एंट्री का लागू नहीं किया गया है उन्हें सीज करने की कार्रवाई की जा रही है।

वहीं ट्रेनों से लौट रहे यात्रियों की आरटीपीसीआर जांच चैक की जा रही है। जिनके पास जांच रिपोर्ट नहीं है। उनको 15 दिन के लिए क्वारेंटाइन किया जा रहा है। शुक्रवार शाम को भी ऐसे 7 लोगों को क्वारेंटाइन सेंटर भेजा गया। वहीं आने वाली सभी ट्रेनों के लिए मेडिकल टीम लगाकर आने वाले लोगों की आरटीपीसीआर जांची जा रही है।

Leave A Comment