बिजनेस

कॉफी डे के शेयरों में 26 अप्रैल से फिर ट्रेडिंग, स्टॉक एक्सचेंज ने शेयरों की खरीद-फरोख्त से हटाई रोक

कर्ज में डूबी कॉफी डे एंटरप्राइजेज लिमिटेड के शेयरों में 26 अप्रैल से फिर ट्रेडिंग शुरू हो जाएगी। स्टॉक एक्सचेंज ने शेयरों की खरीद-फरोख्त पर लगी रोक हटा दी है। निवेशक बंबई स्टॉक एक्सचेंज और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज दोनों पर CDEL के शेयरों में ट्रेडिंग कर सकेंगे।

लिस्टिंग की शर्तें पूरी ना करने पर लगी थी रोक
रेगुलेटरी फाइलिंग में CDEL ने कहा है कि BSE और NSE ने शेयर ट्रेडिंग पर लगी रोक को हटा लिया है। अब 26 अप्रैल से कंपनी के शेयरों में फिर से ट्रेडिंग की जा सकेगी। CDEL कैफे कॉफी डे चेन का संचालन करती है। लिस्टिंग की शर्तों और तिमाही वित्तीय नतीजे जमा नहीं करने पर दोनों स्टॉक मार्केट ने CDEL के शेयरों में ट्रेडिंग पर रोक लगा दी थी।

जुर्माना भी नहीं दिया था
स्टॉक एक्सचेंज ने 13 जनवरी को कहा था कि CDEL ने जून 2019 और सितंबर 2019 तिमाही के वित्तीय नतीजे जमा नहीं किए थे। इसके अलावा CDEL ने सेबी का शर्तों का पालन नहीं करने पर जुर्माना भी अदा नहीं किया था। इसी कारण से कंपनी के शेयरों की ट्रेडिंग पर रोक लगाई गई थी। BSE पर उपलब्ध डाटा के मुताबिक, CDEL के शेयरों में 25 अगस्त 2020 से ट्रेडिंग नहीं हुई है।

CDEL पर 280 करोड़ रुपए का कर्ज
इस महीने की शुरुआत में CDEL ने कई बैंक और वित्तीय संस्थानों से लिए कर्ज के ब्याज और मूल राशि के भुगतान डिफॉल्ट की बात कही थी। कंपनी पर विभिन्न बैंकों और वित्तीय संस्थानों का 280 करोड़ रुपए का कर्ज है। कैफे कॉफी डे के फाउंडर वी जी सिद्धार्थ की जुलाई 2019 में मौत हो गई थी। उनका शव मेंगलुरु की नेत्रावती नदी में मिला था।

CDEL में प्रमोटर्स की 15.23% की हिस्सेदारी
BSE पर उपलब्ध जानकारी के मुताबिक, मार्च 2021 में CDEL में प्रमोटर्स की 15.23% हिस्सेदारी थी। शेष 84.77% हिस्सेदारी पब्लिक शेयरहोल्डर्स के पास है। प्रमोटर्स के पास कुल 3,21,63,416 शेयर हैं। इनमें से 52.55% या 1,69,01,596 करोड़ शेयर गिरवी रखे हैं। कंपनी के प्रमोटर वी जी सिद्धार्थ के पास 11.23% हिस्सेदारी है, वहीं उनकी पत्नी मालविका हेगड़े के पास केवल 0.05% हिस्सेदारी है।

26.05 रुपए प्रति शेयर पर रुकी थी ट्रेडिंग
BSE पर उपलब्ध डाटा के मुताबिक, जब CDEL के शेयरों में ट्रेडिंग रोकी गई थी, तब कंपनी का शेयर 26.05 रुपए प्रति यूनिट पर था। 28 अगस्त 2019 को कंपनी का शेयर 52 सप्ताह के उच्च स्तर 89 रुपए प्रति यूनिट पर था। 8 जून 2020 को कंपनी का शेयर 52 सप्ताह के निचले स्तर 14.05 रुपए प्रति यूनिट पर आ गया था।

Leave A Comment