खेल

पिछली बार मिली हार का बदला लेने उतरेगी दिल्ली कैपिटल्स, मुंबई ने चारों मैच में हराया था

इंडियन प्रीमियर लीग का 13वां मैच डिफेंडिंग चैम्पियन मुंबई इंडियंस और दिल्ली कैपिटल्स के बीच आज चेन्नई के चेपक स्टेडियम में खेला जाएगा। पिछले सीजन में दोनों टीम के बीच 4 मैच खेले गए थे। हर बार मुंबई ने दिल्ली को शिकस्त दी थी। पिछला फाइनल भी दोनों के बीच खेला गया था, जिसमें मुंबई 5 विकेट से जीती थी। दिल्ली तब पहली बार फाइनल में पहुंची थी। ऐसे में वह मुंबई से उस हार का बदला लेने उतरेगी।

दोनों टीमें इस सीजन में अपना पिछला मैच जीत चुकी हैं। ऐसे में DC के कप्तान ऋषभ पंत और MI के कैप्टन रोहित शर्मा, दोनों ही अपनी प्लेइंग-11 में कोई बदलाव नहीं करना चाहेंगे। पंत IPL में पहली बार कप्तानी कर रहे हैं, जबकि रोहित अपनी टीम को सबसे ज्यादा 5 बार खिताब जिता चुके हैं।

पॉइंट टेबल में दिल्ली दूसरे और मुंबई तीसरे नंबर पर
मौजूदा सीजन में दोनों टीम के बीच यह पहली टक्कर है। अब तक मुंबई और दिल्ली ने 3-3 मैच खेले हैं। इसमें दोनों ही टीम ने 2-2 जीते और 1-1 हारे हैं। हालांकि, पॉइंट टेबल में अच्छे नेट रनरेट के चलते दिल्ली दूसरे और मुंबई तीसरे नंबर पर है।

ओपनिंग में दिल्ली की टीम हावी
बैटिंग में दिल्ली की टीम मौजूदा सीजन में सबसे अच्छी रही है। उसके ओपनर शिखर धवन के पास ऑरेंज कैप है, जिन्होंने अब तक 186 रन बनाए हैं। उनका साथ देने वाले पृथ्वी शॉ भी शानदार फॉर्म में हैं। वहीं, मुंबई टीम के ओपनर रोहित शर्मा और क्विंटन डिकॉक अब भी रन बनाने के लिए जूझ रहे हैं। मुंबई का कोई बल्लेबाज 100 का आंकड़ा नहीं छू सका है।

टॉप-5 बॉलर्स में मुंबई के 2 और दिल्ली का 1
इस सीजन के टॉप-5 विकेट टेकर्स में मुंबई के 2 और दिल्ली के 1 बॉलर हैं। MI के स्पिनर राहुल चाहर 7 विकेट के साथ दूसरे और तेज गेंदबाज ट्रेंट बोल्ट 6 विकेट के साथ चौथे नंबर पर काबिज हैं। दिल्ली के फास्ट बॉलर आवेश खान ने भी 6 विकेट लिए, लेकिन अच्छे औसत के कारण तीसरे नंबर पर हैं। फिलहाल, रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (RCB) के हर्षल पटेल 9 विकेट के साथ टॉप पर हैं।

पिच रिपोर्ट
चेन्नई की पिच हमेशा ही स्पिनर्स की मददगार रही है। हालांकि पिछला मुकाबला यहां हाई स्कोरिंग रहा था। RCB ने यहां KKR के खिलाफ 205 रन का टारगेट सेट किया था। इसमें ग्लेन मैक्सवेल ने 78 और एबी डिविलियर्स ने 76 रन की पारी खेली थी। इसके जवाब में KKR टीम 166 रन पर सिमट गई थी। चेन्नई की पिच पर बाद में बल्लेबाजी करना मुश्किल होता है। यहां इस सीजन में अब तक 6 मैच हुए, जिसमें 5 बार पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम ही जीती है।

Leave A Comment