खेल

सचिन तेंदुलकर जब अपनी कार पर फैन्स की खरोंच देखकर भी खुश हुए, जानें वो यादगार लम्हा

भारतीय क्रिकेट फैंस के लिए आज का दिन बेहद खास है। आज क्रिकेट के भगवान माने जाने वाले सचिन तेंदुलकर 48 साल के हो गए हैं। तेंदुलकर का जन्म 24 अप्रैल 1973 को मुंबई में हुआ था। सचिन ने 16 साल की उम्र में इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू किया था और अपने रिटायरमेंट तक क्रिकेट जगत में छाए रहे। 

लगभग 24 साल के करियर में सचिन तेंदुलकर 782 बार बैटिंग के लिए उतरे। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय मैचों में 34 हजार से ज्यादा रन बनाए, 100 शतक और डेढ़ सौ से ज्यादा अर्धशतक जड़े। सचिन ने अपने करियर में एक साल के लगभग हर दिन अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेला। उन्होंने दो सौ से ज्यादा विकेट भी लिए। 

जब सचिन ने अपनी कार पर लगी खरोंचें देखी  
सचिन ने क्रिकेट के अपने यादगार लम्हों को याद करते हुए बताया था कि किस तरह 2011 में भारत के 28 साल बाद दूसरा विश्व कप जीतने के जश्न के दौरान उनकी कार पर खरोंचें आ गई थी। 

क्रिकेट लेखक बोरिया मजूमदार की किताब ‘इलेवन गॉड्स एंड ए बिलियन इंडियन्स’ के लॉन्च के दौरान तेंदुलकर ने कहा था कि विश्व कप जीतने के बाद उनके कहने पर पत्नी अंजलि स्टेडियम आ रही थी तो स्टेडियम के बाहर लोग नाच रहे थे, जश्न मना रहे थे और कारों के ऊपर कूद रहे थे। यह जश्न हालांकि उस समय कुछ देर के लिए रुक गया जब फैन्स ने अंजलि को पहचान लिया। फैन्स ने कहा कि इस कार पर हम कुछ नहीं कर सकते और वह स्टेडियम के अंदर आईं। जब होटल वापस जाने का समय आया तो मैंने कार देखी और हैरान था कि कार की छत पर काफी खरोंचें थी। 

तेंदुलकर ने कहा , ‘‘ड्राइवर ने कहा कि मैडम को छोड़ने के बाद, सभी ने कार के ऊपर कूदना और नाचना शुरू कर दिया इसलिए मैंने कहा कि ये खरोंचे हमेशा मुझे विश्व कप के यादगार लम्हों की याद दिलाएंगे और इसलिए मैं इन्हें ‘ खुशनुमा खरोंच ’ कहता हूं।’’

सचिन के जन्मदिन की वो यादगार पारी
अपने जन्मदिन पर सचिन सिर्फ एक बार बैटिंग करने उतरे और उस खास दिन को उन्होंने बहुत यादगार बना दिया । बात 24 अप्रैल 1998 की है। शारजाह में चल रहा था कोका-कोला कप और भारत के सामने फाइनल में मजबूत ऑस्ट्रेलिया की चुनौती थी। पहले बैटिंग करते हुए ऑस्ट्रेलिया ने 272 रन बनाए। इस मैच में सचिन ने 131 गेंद में 12 चौकों और 3 छक्कों की मदद से 134 रन बनाए। सचिन का शतक बेकार नहीं गया और भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया को हराकर कोका-कोला कप जीत लिया। सचिन का ये जन्मदिन और ये पारी फैंस के दिलों में हमेशा के लिए बसी रहेगी।  

Leave A Comment